Friday, November 27, 2020
Recent News
Home > Best Investment Option > Mutual Fund में SIP करे या Lumpsum 2020 में – SIP OR Lumpsum
Best Investment Optionlatest NewsMutual Funds

Mutual Fund में SIP करे या Lumpsum 2020 में – SIP OR Lumpsum

SIP OR LUMPSUM IN 2020

आप भी है परेशान की 2020 में क्या करे SIP Or LUMPSUM ? मै कभी परेशान हुआ करता था | पर अब नहीं अब मै आपको कुछ फैक्ट बताऊंगा इस आर्टिकल में जिससे आपका यह क्वेश्चन हमेसा के लिए दूर हो जायेगा | और मुझे लगता है की आपको दोबारा इस बात को लेकर भविष्य में कोई परेशानी नहीं होगी ? आपको SIP करना चाहिए या Lumpsum 2020 में या किसी भी साल में | इस आर्टिकल में मैने आपको कुछ वीडियोस भी दी है जिनको देखना जरुरी है आपके लिए टेक्निकल एनालिसिस के लिए | परेशान मत होइए बहुत ही आसान तरीके से समझाया है| चलिए अब आर्टिकल की तरफ बड़ते है:

Table of Contents

SIP और LUMPSUM क्या होता है ?

यह तो आपको पता ही होना चाहिए की म्यूच्यूअल फण्ड में SIP और LUMPSUM क्या होते है ? क्योकि जब तक आपको यह नहीं पता होगा आप यह बात समझ ही नहीं सकते की आपको SIP करना चाहिए की LUMPSUM |

वो कहते है ना की अगर दुश्मन को हराना है तो पहले उसके बारे में जानो जिससे उसकी आगे की चाल समझ आये

SIP क्या है ?

SIP यानी की SYSTEMATIC INVESTMENT PLAN, देखिये आपको फुल फॉर्म बताने का मेरा इरादा नहीं था| आप सभी को पता है इसका फुल फॉर्म | यह बताने का यहा मतलब है की आप SIP को समझ सके | अगर आप SIP आप्शन को म्यूच्यूअल फंड्स में चुनते है तो यह आपको आपके चुने गए समय अंतराल (1 महीने, 2 महीने जो भी समय चुनते है ) पर आपके अकाउंट से पैसा निकल कर आपके चुने हुए फण्ड में इन्वेस्ट करता रहता है | बस यही काम है SIP का | इसके कुछ फायदे और नुक्सान है वो हम लोग आगे बात करते है |

LUMPSUM क्या है ?

LUMPUSM यानि की एकमुश्त निवेश | यह इन्वेस्टमेंट आप्शन आपको म्यूच्यूअल फण्ड मैन्युअली एक बार (जैसे बैंक की फिक्स्ड डिपाजिट ) निवेश करने के लिए बनाया गया है | यानी की अगर आप एकमुश्त निवेश करते है म्यूच्यूअल फण्ड में तो आपका पैसा उस फण्ड की यूनिट एक बार ही खरीदेगा | दोबारा खरीदने के लिए आपको मैन्युअली दोबारा निवेश करना होगा |

SIP करने के अलग – अलग फायदे

अगर आप म्यूच्यूअल फंड्स में SIP करते है तो इसके अपने फायेदे भी है और नुक्सान भी दोनों हम आगे बात करेगे इस आर्टिकल में | अगर इस बात को आप समझ जायेगे तो आपको काफी आसानी हो अपनी फाइनेंसियल प्लानिंग करने में |

निवेश करने की आदत पड़ जाती है

यह सबसे जरुरी है की आपके जीवन में अच्हा जीवनसाथी हो और उसके साथ आपकी आदते भी अच्ही हो | उन्ही अच्छी आदतों में से एक इन्वेस्टमेंट भी है जो आपको जीवन भर करना चाहिए | और यही इन्वेस्टमेंट की आदत आपको फाइनेंसियल फ्री बनाती है | रही बात MUTUAL FUND में SIP की तो यह भी आपको इन्वेस्टमेंट की रेगुलर आदत में डाल देती है | जिसकी मदद से आप हर महीने थोडा – थोडा पैसा इन्वेस्ट कर एक बड़ा कार्पस अपने लिए बना लेते है |

रोज की चिंता से मुक्ति देता है MUTUAL FUND SIP

डॉक्टर का भी कहना है और हमारे बड़े बुजुर्ग भी कहते है “चिंता चिता के सामान है ” | तो दोस्तों हमे मानसिक रूप से चिंता मुक्त बनाता है म्यूच्यूअल फंड्स SIP | क्योकि म्यूच्यूअल फण्ड की यूनिट में प्रतिदिन बदलाव होते है और यह बदलाव आपको परेशान कर सकते है | म्यूच्यूअल फण्ड सिप इस चिंता को कम करते है | क्योकि यह आपका पैसा हर तरह की मार्किट अवस्था में निवेश करता है | चाहे बाज़ार निचे जाए या ऊपर | अब निचे जाए उससे आप परेशान मत हो जाइएगा इसको आप लोग अगली हेडिंग में समझ पायेगे |

सिप मदद करता है रूपए कास्ट को एवेरेज करने में

अगर आप म्यूच्यूअल फण्ड में करते है तो यह बहुत जरुरी होता है, कास्ट एवेरेजिंग को सीखना | और म्यूच्यूअल फण्ड की सिप इसमें बहुत मदद करती है | वो कैसे मै आपको बताता हु : ऊपर मैने आपको समझाया की यह आपको रोज की चिंता से मुक्त करता है और मार्किट निचे जाये या ऊपर | तो दोस्तों यह इसलिए हो पता है क्योकि जो भी पैसा आपका म्यूच्यूअल फण्ड सिप के द्वारा जा रहा है वह शेयर बाज़ार की वर्तमान कीमत पर जा पा रहा है | चुकी शेयर बाज़ार रोज उतार चड़ाव से होकर कर गुजरता है | इसलिए म्यूच्यूअल फण्ड सिप उन हर उतार चड़ाव पर निवेश करता है और आपके किये गए निवेश को आसान और आपके निवेश को एवरेज करता है और ज्यादा से ज्यादा लाभ दिलाने की कोशिश करता है | आइये इसको एक उधारण से समझते है:

Example:

मान लीजिये आपने एक म्यूच्यूअल फण्ड में आपने सिप स्टार्ट की |और उस म्यूच्यूअल फण्ड की एक यूनिट पहले महीने में 100 रूपए की थी और दुसरे महिनें में 80 रूपए और तीसरे महीने में 90 और चौथे महीने में 60 रूपए और पाचवे महीने में 90 रुँपय | आइये देखते की यह म्यूच्यूअल फण्ड आपके कितने कास्ट को एवरेज कर पाया |

इन सभी को जोड़कर 5 से भाग दे दीजिये : 100+80 + 90 + 60 + 90 = 420 /5 = 80 रूपए |

इस विडियो को भी जरुर देखिएगा आपको मदद मिलेगी :

यानी की आपको एक यूनिट की जो अब वैल्यू है निवेश करने पर वह अब 80 रूपए हो गई है | जबकि आपने इसमें निवेश किया था तो 100 रूपए पड़ी थी अगर आप उस समय 5 यूनिट एक साथ खरीदते तो आपको 500 रूपए चुकाने पड़ते | लेकिन म्यूच्यूअल फण्ड सिप के माध्यम से आप इसको एवरेज कर पाए और यह अब आपको 80 रूपए/यूनिट यानि की 5 यूनिट आपको 420 रूपए में मिल रही है | मुझे लगता है आपको समझ आ ही गया होगा अगर कोई प्रॉब्लम है तो कमेंट कर के पूछ लीजिये |

COMPOUNDING का बेहतरीन लाभ

अगर दोस्तों म्यूच्यूअल फण्ड सिप में आप निवेश करते है तो आपको कोम्पौन्डिंग का बेहतरीन लाभ मिलता है | यह इन्वेस्टमेंट का तरीका सभी निवेशको को एक बेहतरीन आप्शन देता है की वो अपने कमाए हुए पैसो को दोबारा से उसी फण्ड में निवेश कर अपने पैसो को और बड़ा बना सके |

LUMPSUM करने के क्या फायदे है?

देखिये दोस्तों आप ऊपर सिप के इतने सारे फायदे देख कर LUMPSUM को कम मत समझिएगा | lUMPSUM के भी अपने फायदे है, निचे आप कुछ जरुरी फायदों के बारे में जान पायगे:

एक साथ बहुत बड़ा अमाउंट निवेश करने का विकल्प

अगर आप म्यूच्यूअल फण्ड में LUMPSUM करते है तो आप एक बार में बहुत सारा पैसा निवेश कर सकते है | इन पैसो को आप सिप की तरह हर महीने नहीं निवेश कर पायेगे | तो दोस्तों एकमुश्त (LUMPSUM) निवेश आपको अपने बेस्ट म्यूच्यूअल फण्ड में एक साथ ढेर साड़ी यूनिट खरीदने में मदद करता है |

बेस्ट आप्शन लॉन्ग टर्म इन्वेस्टर के लिए

जी हा, LUMPSUM इन्वेस्टमेंट लॉन्ग टर्म के लिए एक बेस्ट इन्वेस्टमेंट आप्शन हो सकता है हर तरीके के इन्वेस्टर के लिए | अगर आप इक्विटी मारकेट को एनालिसिस करेगे तो आपको यह समझ आएगा की इक्विटी मारकेट ने लॉन्ग टर्म में (5 साल या उससे ज्यादा ) निवेशको को खूब पैसा बना कर दिया है | और यह रिटर्न 30% से भी ज्यादा निकल कर आया है |

LUMPSUM मारकेट को टाइम करने में मदद करता है

अब आप सोच रहे होंगे ये क्या लिख दिया मैंने ‘मारकेट को टाइम करने में मदद करता है’ | इसका मतलब है की एकमुस्त निवेश वर्तमान मारकेट से सही पैसा बनाने में मदद करता है | जैसे की मै मान लेता हु की आपके पास एक लाख रूपए है |

इन एक लाख रुपयों को आप निवेश करना चाहते है | और इस समय मारकेट या आपके म्यूच्यूअल फण्ड की यूनिट की प्राइस अभी निचे जा रही है |इस अवस्था में निवेश करने से आपको कम पैसो में बहुत सारी यूनिट्स मिल पायेगी | जिससे की आगे चलकर जब शेयर बाज़ार में निवेश बड़ेगा और म्यूच्यूअल फंड्स की यूनिट की कीमत अब बड़ने लगेगी | क्योकि म्यूच्यूअल फण्ड के फण्ड मनेजर ने भी तो शेयर बाज़ार में पैसा लगाया है तो अब आपको ज्यादा फायदा होगा | जैसा की मैंने आपको ऊपर सिप के उधारण को दिया था | उस उधारण में सिप आटोमेटिक मार्किट को टाइम करता है एक तय किए हुए दिन को और आपके पैसो को एवरेज करता है | और LUMPSUM मैन्युअली आपके द्वारा मारकेट को टाइम करता है |

कब करे SIP और कब करे LUMPUSM?

तो दोस्तों अगर आपने ऊपर पूरा पड़ा होगा तो आपको यह समझ आ ही गया होगा की SIP और LUMPSUM इन दोनों में अंतर क्या है ? आइये जानते है की कब करना चाहिए SIP और कब करना चाहिए LUMPUSM ? निचे कुछ निवेश की अवस्था के अनुसार क्या बेहतर हो सकता है उस बारे में बताया गया है |

जब आपको शोर्ट टर्म के लिए निवेश करना हो तब क्या करे ?

पहले तो आपको यह पता होना चाहिए की आप शोर्ट टर्म मानते किसको है ? अगर आप सोच रहे है की आप म्यूच्यूअल फण्ड में शोर्ट टाइम के लिए इन्वेस्ट कर के (6 महीने सालभर ) अच्हा पैसा बनाकर निकल सकते है | तो यह रणनीति एक – दो बार सफल हो सकती है पर बार बार नहीं | इसलिए शोर्ट टर्म के लिए तो मै आपको सलाह ही नहीं दूंगा की आप सिप करे या LUMPUSM |लेकिन अगर फिर भी आप निवेश करना ही चाहते है तो आगे के पॉइंट को जरुर पड़ियेगा |

निचे दी गई इस विडियो को देखना न भूले :

जब शेयर बाज़ार बुल रन में हो तब क्या क्या करे SIP OR LUMPSUM

शेयर बाज़ार बुल रन की अवस्था में कैसे आता है आपको यह पता होना चाहिए | जब मार्किट या उस म्यूच्यूअल फण्ड की डिमांड इन्वेस्टर के बिच बढ़ जाती है | और जैसा की आप जानते है बुल रन क्यों कहा जाता है ? जवाब है जब मार्किट तेजी से बढ़ रहा हो |

आपको तो पता ही होगा की बुल ज्यादा दूर तक एक बार में नहीं दौड़ सकता है, उसे दोबारा दौड़ने के लिए अपनी पुरानी अवस्था में आना पड़ेगा | तो दोस्तों इससे हमे क्या सिखने को मिलता है ? अगर आप इस अवस्था में LUMPSUM करते है तो म्यूच्यूअल फण्ड अपनी हाई प्राइस वैल्यू पर होगा | और इस वजह से आपको ज्यादा यूनिट्स नहीं मिल पायेगी | और जब मार्किट दोबारा से इस अवस्था में आने की कोशिश करने लगेगा तो आपको नुक्सान होने लगेगा | तो इस अवस्था में आपको सिप स्टार्ट कर देना चाहिए जिससे की आगे चलकर आपका फण्ड आपको कास्ट एवरजिंग का बेनिफिट दे सके |

लॉन्ग टर्म के लिए कौन सा बेस्ट आप्शन होगा म्यूच्यूअल फण्ड SIP और LUMPSUM?

लॉन्ग टर्म निवेश अगर आप तीन साल समझते है तो मै कहूंगा आप थोडा और आगे बड़े | लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट आप्शन कम से कम 5 साल का होना चाहिए | अगर आप इस अवस्था में तो मै कहूँगा की आप दोनों कर सकते है | अगर आपके पास एक बड़ा अमाउंट है निवेश करने के लिए तो आपको LUMPSUM करना चाहिए |और अगर आपके पास हर महीने निवेश करने के लिए पैसे है तो आप SIP कर सकते है | आप का क्या मानना है अपनी भी राय कमेंट करके जरुर बताये |

ज्यादा रिटर्न के लिए म्यूच्यूअल फण्ड में SIP करे या LUMPSUM ?

सभी इन्वेस्टर का यही तो प्रश्न रहता है की हमे रिटर्न कहा ज्यादा मिलेगा ? मै आपको ज्यादा कंफ्यूज नहीं करूँगा : देखिये अगर आप लॉन्ग टर्म के बारे में सोच रहे है |तो जाहिर सी बात है आपको lumpsum से ज्यादा रिटर्न निकलेगा (अगर आप SIP और LUMPSUM में सामान पैसा जमा करते है )| पर कई मामलो में SIP ने LUMPSUM से बेहतर रिटर्न निकाल कर दिया है | कास्ट एवरेजिंग का लाभ देते हुए जो मैंने आपको ऊपर इस आर्टिकल में बताया है |

0 0 vote
Article Rating
Ravi Kant
Hi... this is Ravi the man behind 'The Indian Fever' I am a full-time Youtuber as well as the blogger. I am providing here the perspective and analysis of knowledge and news by my own analysis.
Subscribe
Notify of
guest
2 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Rajesh baxla
Rajesh baxla
10 months ago

Nice

2
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x
%d bloggers like this: